!! ॐ !!


Sunday, September 18, 2011

!! एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो... !!



हे! मेरे श्यामसुन्दर, हे! मेरे ठाकुर, हे! मेरे कन्हैया...




एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत गर मिलो...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...



हम जैसे भी है सांवरे, तेरे मुरीद है...
अवगुण हमारे सांवरे, कर के दया ढको...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो न...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...



आये नहीं कि चल दिये, आना नहीं है ये...
आना तो उसका नाम है, मिलकर जुदा ना हो...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो न...



माना की मुझमे भक्तों सी, कोई कसिश नहीं...
एक बार प्यारे सांवरे, इस दिल की भी सुनो न...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो न...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...



नरसी के सेठ सांवरे, मीरा के श्याम हो...
मुझको भी श्याम प्रेम में, बाँधो या फिर बंधो...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...



मैंने तो इश्क साँवरे, तुमसे बढ़ा लिया...
'नंदू' कन्हैया तुम भी तो, आगे जरा बढ़ो...
आना तो उसका नाम है, मिलकर जुदा ना हो...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो न...



एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो...
एक बार तो कन्हैया, हम जैसो से मिलो...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...
मिलना उसी का नाम है, फुरसत से गर मिलो...



!! जय जय श्री कुँवर कन्हैया लाल की !!

!! जय जय श्री कुँवर कन्हैया लाल की !!
 
 

 
भजन : "श्री नंदू जी"

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में